Thursday, July 30, 2009

अब कहां खेले हम







हमारे घर के लगा हुआ गार्डन है, जहां पर जाकर मैं और मेरा भाई सोनू और हमारे मित्र सब खूब खेलते हैं। बारिश की वजह से गार्डन में पानी-पानी हो गया है। ऐसे में हम लोग सोच रहे हैं कि अब हम लोग कहां खेलें। गार्डन की ये सारी तस्वीरे मैंने पापा के कैमरे से खींची हैं।

1 comment:

रंजन said...

वहीं खेलो.. क्या तैरो..

प्यार

हिन्दी में लिखें