Friday, July 24, 2009

सोनू की जुल्फ लहराई तो सावन को पसीना आ गया

कल शाम को जब मौसम सुहाना था तो मैं अपने भाई सोनू को लेकर छत पर चली गई और पापा के कैमरे से उसके दनादन फोटो खींच डाले। इन फोटो में से ही दो फोटो का चयन करके पापा ब्लाग में डाल रहे हैं। ये फोटो मैंने खींचे हैं। कैसे हैं? जरूर बताएं

7 comments:

Udan Tashtari said...

गज़ब महाराज!! :)

Nirmla Kapila said...

वाह सोनू जरा हमारे यहाँ आआ कर भी अपनी जुल्फों का जल्वा दिखा जाओ बारिश की बहुत जरूरत है --- आशीर्वाद्

संगीता पुरी said...

बहुत बढिया !!

रंजन said...

बहुत सुन्दर..

प्यार..

बी एस पाबला said...

बढ़िया
पसीना तो आ गया होगा भई!

वैसे पहली फोटो तो बड़ी कर देख ली, दूसरी नहीं हो रही

विनोद कुमार पांडेय said...

laharate rahiye..julf
barish ki bahut jarurat hai..
badhiya style...

अनिल कान्त : said...

क्या बात है :)

हिन्दी में लिखें