Friday, July 17, 2009

चल भाई तू ही खेल ले पहले गेम




सोनू सच में बंदर ही है। जब भी मैं कम्प्यूटर पर गेम खेलने के लिए बैठती हूं आ जाता है दौड़कर कम्प्यूटर लेने के लिए। अगर नहीं दो तो जाकर मम्मी-पापा के पास रोने लगता है। ऐसे में मुझे बोलना ही पड़ता है चल भाई तू ही खेल ले पहले गेम।

2 comments:

रंजन said...

अच्छा किया... भाई जिन्दाबाद..

प्यार दोनों को.

अनिल कान्त : said...

भाई पर प्यार लुटाया जा रहा है...

हिन्दी में लिखें